यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट सिलेबस 2019 | UPSSSC – नवीनतम पाठ्यक्रम व् परीक्षा पैटर्न यहाँ देंखें और डाउनलोड करें।

यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट सिलेबस 2019 – उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने विज्ञापन सं0-02-परीक्षा-2019 के अंतर्गत होम्योपैथिक फार्मासिस्ट (भेषिजिक) (सामान्य चयन) प्रतियोगितात्मक परीक्षा-2019 हेतु नवीनतम पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न जारी कर दिया है। जिन उम्मीदवारों ने 420 पदों पर यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट भर्ती 2019 हेतु आवेदन किया है और जो इस भर्ती परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे है वे अभ्यर्थी इस आर्टिकल के मधयम से पाठ्यक्रम देख सकते है और डाउनलोड भी कर सकते है। यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट पाठ्यक्रम 2019 (UPSSSC Homeopathic Pharmacist Syllabus 2019) की अधिक जानकारी के लिए पूरा आर्टिकल पेज के अंत तक पढ़ें।

यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट सिलेबस 2019 का विवरण :

  • आयोग का नाम : उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC)।
  • परीक्षा का नाम : यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फर्मासिस्ट (सामान्य चयन) प्रतियोगितात्मक परीक्षा-2019।
  • विज्ञापन संख्या : 02-परीक्षा-2019।
  • रिक्तियों की संख्या : 420 पोस्ट्स।
  • पद का नाम : होम्योपैथिक फर्मासिस्ट (भेषिजिक)।
  • आर्टिकल का प्रकार : सिलेबस
  • ऑफिसियल वेबसाइट : www.upsssc.gov.in

यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट (भेषिजिक) परीक्षा पैटर्न व् पाठ्यक्रम 2019 :

  • परीक्षा एक पाली की कराई जाएगी।
  • प्रश्नपत्र दो भागों में विभाजित होगा।
  • प्रश्नो की कुल संख्या 150 होगी।
  • परीक्षा समयावधि दो घंटे की होगी।
  • परीक्षा के प्रश्न वस्तुनिष्ठ एवं बहुवैकल्पिक के प्रकार के होंगे।
  • इस परीक्षा में 1/4 अर्थात 25 प्रतिशत निगेटिव मार्किंग होगी।

होम्योपैथिक फार्मासिस्ट (भेषिजिक) (सामान्य चयन) प्रतियोगितात्मक परीक्षा-2019 हेतु परीक्षा पैटर्न तथा पाठ्यक्रम निम्न प्रकार होगा।

प्रश्न पत्र भाग विषय प्रश्नों / अंकों की संख्या समयावधि
भाग -1 सामान्य अध्ययन व् सामन्य विज्ञान 50 दो घंटा (2:00 Hrs)
भाग -2 विषय से सम्बंधित ज्ञान 100
कुल योग 150

यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट सिलेबस 2019 :

भाग -1 सामान्य अध्ययन व् सामन्य विज्ञान :

(क) सामान्य अध्ययन – भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन तथा भारतीय इतिहास के अंतर्गत सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक एवं सांस्कृतिक पक्षों की सामान्य जानकारी। भारत एवं विश्व के भौतिक, सामाजिक, आर्थिक एवं राजनैतिक भूगोल की सामान्य जानकारी। भारतीय संविधान, राजनैतिक व्यवस्था, पंचायती राज आदि की सामान्य जानकारी। भारतीय अर्थव्यवस्था, जनसँख्या, पर्यावरण तथा नगरीकरण आदि से सम्बंधित सामान्य जानकारी। राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय महत्व की सम- सामायिक घटनाएं (इसमें खेलकूद के प्रश्न भी शामिल होंगे) भारत में कृषि, कृषि उत्पाद एवं उनके विपणन के सम्बन्थ में सामान्य जानकारी। उ. प्र. पर आधारित विशिष्ट प्रश्न -शिक्षा, संस्कृति, कृषि, जनसँख्या, व्यापार एवं वाणिज्य, उद्योग, सामाजिक प्रथायें आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछे जायेगे।

(ख) सामान्य विज्ञान – सामान्य विज्ञान (जीव विज्ञान, रसायन व् भौतिकी ) के प्रश्न दैनिक अनुभव तथा प्रेक्षण से सम्बंधित विषयों सहित विज्ञान के सामान्य परिबोध एवं जानकारी पर आधारित होंगे। अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक के माध्यम से पूरा सिलेबस देंखे।

भाग -2 विषय से सम्बंधित ज्ञान :

  • शरीर क्रिया विज्ञान और शरीर संरचना के ज्ञान का विस्तार।
  • कोशिकीय संरचना तथा उसके घटकों के कार्य।
  • संधियों का वर्गीकरण और शरीर के संधियों का प्रारंभिक ज्ञान तथा उसके कार्य।
  • रक्त का संघटक, रक्त अवयवों के कार्य , रक्त समूह  और रक्त का जमना , रक्त के विकार से सम्बंधित जानकारी।
  • हृदय एवं स्वशन तंत्र के विभिन्न भागों का प्रारंभिक ज्ञान।
  • होम्योपैथिक का संक्षिप्त इतिहास विस्तार एवं स्वरूप, डॉ. हैनिमैन और उसकी खोज के बारे में संक्षिप्त जानकारी।
  • बारह टीशू रेमिडीज का परिचय।
  • भेषज – होम्योपैथिक भेषज का परिचय , इतिहास , शाखाएं और उनका उपयोग।
  •  औषद्कोश – भारत के होम्योपैथिक औषद्कोश का विशिष्ट सन्दर्भ के साथ विभिन्न औषद्कोशों का परिचय।
  • स्वास्थ्य की अवधारणा – स्वास्थ्य की होम्योपैथिक अवधारणा, शारीरिक स्वास्थ्य, मानशिक स्वास्थ्य, सामाजिक स्वास्थ्य, आध्यात्मिक स्वास्थ्य, निर्णीत स्वास्थ्य एवं स्वास्थ्य के संकेतों, स्वास्थ्य और रोगों की होम्योपैथिक अवधारणा, रोगों का प्राकृतिक इतिहास, रोगों के कारक तथा रोगों की रोकथाम से सम्बंधित प्रश्न होंगे।
  • महामारी विज्ञान का विस्तार, उपयोग के तरीके, टीकाकरण के उत्पाद और उसके नियम , रोग नियंत्रण का सिद्धांत।
  • वाहक का बनाना – शुगर ऑफ़ मिल्क, टेबलेट , कोन, ग्लोबुल्स, पिल्स, सिरप, संशोधित स्प्रिट एवं शुद्ध जल को बनाने का तरीका। ।
  • औषधि और उनके संकेताक्षर।
  • होम्योपैथिक औषधि के स्रोत – १-वनस्पति जगत, २- खनिज जगत, ३- जीव-जन्तु जगत, ४- नौसनोड, ५- सारकोड, ६- एमपॉन्डेबिलिया, ७- औषधि संग्रह।
  • औषधि पदार्थ का संरक्षण, शुद्धिकरण और पहचान।
  • मदर टिंचर को तैयार करना।
  • शक्तिरण , विचूर्णन, सक्सेशन (अनुकरण)
  • मदर टिंचर, अनुकरण, विचूर्णन और औषधियों का प्रबंधन एवं अनुरक्षण।
  • रोगी को सुरक्षित जगह पहुंचना , घायल व्यक्ति को अस्पताल तक ले जाने का तरीका।

यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट पाठ्यक्रम 2019 – आवश्यक लिंक :

Important Links Area
यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट सिलेबस डाउनलोड लिंक
यहाँ क्लिक करें
आधिकारिक वेबसाइट लिंक यहाँ क्लिक करें

महत्वपूर्ण निर्देश – सभी उम्मीदवारों से अनुरोध किया जाता है कि यूपीएसएसएससी होम्योपैथिक फार्मासिस्ट सिलेबस 2019 (UPSSSC Homeopathic Pharmacist Syllabus 2019) का मिलान आधिकारिक पाठ्यक्रम से जरूर पढ़ लें। जिससे कोई विसंगति न हो।

निवेदन – आप सभी से निवेदन है कि इस पाठ्यक्रम लिंक को अपने दोस्तों को Whatsapp ग्रुप, फेसबुक एवं ट्विटर या अन्य सोशल चैनलों पर अधिक से अधिक शेयर करें। सरकारी नौकरी की जानकारी हिंदी में प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट (www.rojgarresulthindi.com) से जुड़े रहे। हम आपके उज्जवल भविष्य की कामना करते है।

यह भी जरूर पढ़े !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *